Saturday, August 30, 2008

लिखता भी तो दर्द है ...

रात की कलि स्याही को दिल मैं कुछ ऐसे उतरा है

की कमबख्त लिखता भी तो दर्द है ...

1 comment:

  1. दर्द न हो तो ज़िन्दगी में ख़ुशी का अहसास ही कहाँ हो ?

    ReplyDelete

Srirangam Perumal.

I have always been inclined towards the spiritual and cultural heritage of Tamilnadu and the great and magnificent temple architecture and I...